एंटीबायोटिक क्या है इसके प्रकार , फायदे , नुकसान और उदाहरण

दोस्तो आज के इस पोस्ट में हम Antibiotic Kya Hai इसके विषय में जानकारियां लेने वाले है कि आखिर यह एंटीबायोटिक क्या है और इसके उदाहरण और एंटीबायोटिक के प्रकार इस सभी के विषय में हम आज जानकारी लेने वाले है और साथ ही एंटीबायोटिक के लाभ और इसके नुकसान के विषय में भी हम आज की इस पोस्ट में जानकारियां लेने वाले है।

एंटीबायोटिक क्या है इसके प्रकार , फायदे , नुकसान
एंटीबायोटिक क्या है इसके प्रकार , फायदे , नुकसान
Antibiotic Kya hai एंटीबायोटिक क्या है इसके प्रकार , फायदे , नुकसान

दोस्तो बीमारियां या फिर हेल्थ की समस्याएं किस व्यक्ति को नहीं होती है चाहे वह कितना भी फिट और हेल्थी क्यों? ना हो कोई न कोई हेल्थ की समस्या या फिर छोटी – मोटी कोई बीमारी आ ही जाती है और भारत में तो यह बहुत ही आम बात है।

क्योंकि भारत में ज्यादातर लोग अपनी हेल्थ और फिटनेस पर ध्यान नहीं देते है बल्कि ज्यादातर लोगों को तो इसके विषय में जानकारी ही नही होती है जबकि हमे अपनी हेल्थ का फिटनेस का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि यह एक बहुत ही जरूरी चीज है जिंदगी में आगे जाने के लिए आपको हेल्थ को सही रखना बहुत जरूरी है आपको फिर रहना बहुत जरूरी है।

लेकिन भारत में ऐसा नही होता है ज्यादातर लोग Unhealthy है और उसी की वजह से ना जाने कितनी बीमारियां जन्म लेती है और फिर हमें दवाओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन जो दवाएं हम खाते है हमे उनकी भी बेसिक जानकारी नहीं होती है। उन्ही दवाओं में से काफी दवाइयां एंटीबायोटिक भी होती है जिसका हमने नाम तो बहुत सुना है लेकिन एंटीबायोटिक क्या है यह जानकारी हमें नहीं होती है।

दोस्तो हम सभी ने बहुत बार इस शब्द “एंटीबायोटिक” का नाम तो सुना है लेकिन क्या आपको इसके विषय में जानकारी है कि आखिर यह Antibiotics Kya Hai और इसके क्या लाभ और क्या नुकसान होते है। जी नहीं आप में से ज्यादातर लोगों को एंटीबायोटिक के विषय में जानकारी नहीं होगी। तो आज हम इसी के विषय में जानकारी लेने वाले है कि आखिर यह क्या होता है और इसके कुछ उदाहरण भी हम जानेंगे।

एंटीबायोटिक क्या है इसके प्रकार , फायदे और नुकसान

Antibiotic Kya Hai

दोस्तो सबसे पहले बात करते है कि आखिर एंटीबायोटिक क्या है तो दोस्तो एंटीबायोटिक आज के चिकित्सा में सबसे ज्यादा सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाली दवाओं में से एक है। एंटीबायोटिक बैक्टीरिया को मार कर या हानि पहुंचा कर बीमारी का इलाज करती है। दोस्तो आज 100 से भी ज्यादा एंटीबायोटिक दवाइयां मामूली से लेकर जानलेवा बीमारियों तक का इलाज करने के लिए इस्तेमाल की जाती है।
एंटीबायोटिक्स को एंटीबैक्टीरियल के नाम से भी जाना जाता है यह वह दवाई होती है जो कि बैक्टीरिया के विकास को रोकती है उसे धीमा करती है। एंटीबायोटिक्स दवाइयां बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों के इलाज करने में उपयोग की जाती है।
दोस्तो एंटीबायोटिक शब्द का प्रयोग 1942 में सेलमैन वाक्समैन के द्वारा किसी एक सूक्ष्म जीव द्वारा उत्पन्न किये गये ठोस या तरल पदार्थ के लिए किया गया। जो उच्च तनुकरण में अन्य सूक्ष्मजीवों के विकास के विरोधी होते हैं। इस मूल परिभाषा में प्राकृतिक रूप से प्राप्त होने वाले ठोस या तरल पदार्थ नहीं हैं जो जीवाणुओं को मारने में सक्षम होते हैं। पर सूक्ष्मजीवों जैसे गैस्ट्रिक रस और हाइड्रोजन पैराक्साइड द्वारा उत्पन्न नहीं किये जाते और इनमें सल्फोनामाइड जैसे सिंथेटिक जीवाणुरोधी यौगिक भी नहीं होते हैं। कई प्रतिजैविक अपेक्षाकृत छोटे अणु होते हैं, जिनका भार 2000 Da से भी कम होता हैं।

Antibiotic के प्रकार

दोस्तो एंटीबायोटिक्स एक या दो नहीं बल्कि कई प्रकार के होते है और कई प्रकार के एंटीबायोटिक्स मार्केट में उपलब्ध भी है जो की अलग – अलग ब्रांड के नामों के आते है। दोस्तो एंटीबायोटिक दवाओं को उनके कामों के आधार कर अलग – अलग भागों में बांटा जाता हैं क्योंकि किसी एक प्रकार का एंटीबायोटिक सिर्फ कुछ ही तरह के बैक्टीरिया के खिलाफ काम करता है इसी वजह से अलग – अलग बीमारियों के लिए अलग – अलग एंटीबायोटिक का इस्तेमाल किया जाता है। आइए इनके विषय में जानकारी लेते है।
Types Of Antibiotic

  • Penicillins
  • Tetracyclines
  • Cephalosporins
  • Quinolones
  • Lincomycins
  • Macrolides
  • Sulfonamides
  • Glycopeptides
  • Aminoglycosides
  • Carbapenems
दोस्तो ऐसा नहीं है कि एंटीबायोटिक सिर्फ इतने ही होते है इसके अलावा भी और भी कई प्रकार के एंटीबायोटिक होते है जो कि कई अन्य प्रकार की बीमारियों जैसे कि टीबी के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जा सकते है।

दो एंटीबायोटिक के उदाहरण

Penicillins – phenoxymethylpenicillin, flucloxacillin and amoxicillin.
Cephalosporins – cefaclor, cefadroxil and cefalexin.
 
 

Antibiotic दवाओं के लाभ और नुकसान

 फायदे – दोस्तो बात करें एंटीबायोटिक दवाओं केडी लाभ की तो दोस्तो इन दवाओं के बहुत ही अच्छे लाभ है दोस्तो एंटीबायोटिक दवाएं हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है यह बैक्टिरियल संक्रमण और जीवाणु से होने वाली बीमारियों से होने वाले इलाज में एंटीबायोटिक दवाएं बहुत ही जबरदस्त लाभ देती है। एंटीबायोटिक्स दवाइयां बैक्टीरिया को मारकर उनकी वृद्धि को रोक कर हमे संक्रमण के फैलने से बचाती है।
नुकसान – दोस्तो जिस तरह हर दवाई हर मेडिसिन के फायदों के साथ – साथ कुछ नुकसान भी होते ही उसी तरह से इन एंटीबायोटिक दवाइयों के भी कई नुकसान भी होते है। दोस्तो जब एंटीबायोटिक दवाओं की आपको जरूरत होती है तब आप इन दवाओं को लेते है तो एंटीबायोटिक दवाओं के लाभ इसके जोखिम से कई गुना ज्यादा होते है। लेकिन अगर आपको इन दवाओं की आवश्यकता नहीं होती है और फिर भी आप इनको इस्तेमाल करते है तो यह आपको नुकसान भी पहुंचा सकती है।
दोस्तो एंटीबायोटिक न सिर्फ अपने लक्ष्य के जीवाणु को खत्म करती है बल्कि यह उन जीवाणु को भी खत्म कर देती है जो कि हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियों से लडने के लिए होते है। इसलिए इन दवाइयों के कई तरह की साइड इफेक्ट भी हो सकते है या फिर आपको अन्य समस्याएं भी एंटीबायोटिक के कारण आ सकती है।
See also  Internet Kya? hai | Internet के फायदे | Internet का Full Form जानें

Natvar Jadav is the Author & Co-Founder of the TechnicalHelps.in. He has also completed his graduation in Computer Engineering from Gujarat(GJ) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing.

Leave a Comment